कठुआ गैंगरेप: विरान मंदिर और खाली पड़े मकान के बाहर की राजनीति क्या दिलाएगा आसिफा को इंसाफ?

जम्मू-कश्मीर के कठुआ के गैंगरेप ने वहां के एक गांव और दो समुदायों की जिंदगी पूरी तरह से बदल दी है। यहां के हीरानगर से बायें मुड़ने के बाद एक पथरीला रास्ता पड़ता है जो रासना गांव को जाता है। ये गांव कठुआ की सीमा में आता है। इसी रासना गांव में 8 साल की बच्ची के साथ 8 हैवानों की दरिंदगी ने पूरे देश को शर्मसार किया है।

 

 

गांव के अंदर एक मंदिर है जो अब बंद पड़ा है। क्योंकि, इसी मंदिर में 8 दिनों तक उस मासूम आसिफा को किडनैप करके रेप किया गया। और हर वक्त पर उसे नशे से नहलाया गया। मंदिर के बगल में ही एक जंगल है, जहां दिन में मवेशी चरते हैं लेकिन रात में जंगली जानवरों का पहरा होता है। वहीं जंगल के बगल में ही एक घर है जिस पर अब ताला लगा है।

 

 

बात करें इस गांव में रहने वालों की यहां के हिंदू रहवासी छिपे हैं या कहीं धरने पर बैठे हुए हैं। वहीं बकरवाल समुदाय जो कि एक खानाबदोश मुस्लिम जनजाति है बच्ची भी इसी समुदाय की थी, फिलहाल गांव छोड़कर जा चुका है। अपने ह समुदाय के साथ लड़की का परिवार भी ये गांव छोड़ चुका है। और शायद ही कभी उस समुदाय का इस गांव की तरफ मुड़कर देखे।

 

 

लड़की का घर दो खंभे दो हरे और भरें रंग का उसी पर टिका है। घर के भूरे रंग के छोटे दरवाजे पर ताला लगा है जिसपर एक ताबीज लटका हुआ है। शायद ये ताबीज सौभाग्य के लिए लटकाया गया हो। वहीं घर के दाहिनी तरफ किचन है। जिसमें शेल्फ पर एक प्रेशर कूकर, एक फ्लास्क, दो खाली जार, एक चाय का कप और एक ग्लास पड़ा हुआ है।

 

 

किचन के बगल में एक छोटा हॉल है, जो पूरी तरह से खाली है। वहीं घर के बाहर पीछे की तरफ कुछ पुराने प्लास्टिक के जूते रखे हैं। जिसमें एक जोड़ी इस बच्ची के भी है।

 

 

वहीं, इस गैंगरेप का मुख्य आरोपी हीरानगर में रिटायर्ड रेवेन्यू अधिकारी है जिसका नाम संजी राम है। उसका समुदाय औऱ परिवार उसे बचाने के लिए उपवास पर बैठा हुआ है। इतना ही नहीं इनके साथ हिंदू एकता मंच के सदस्य भी जुड़े हुए हैं।

 

 

संजी राम की बड़ी बेटी जिसका नाम मधुबाला का कहना है कि इस केस को सीबीआई को ट्रांसफर किया जाए। ताकि असल दोषियों को सजा मिले। बता दें कि, मधुबाला का पति सेना में है और श्रीनगर में तैनात है। वहीं पिता के साथ-साथ मधुबाला अपने भाई विशाल को भी निर्दोष करार दे रही हैं। विशाल भी इन आठ आरोपियों में से एक हो जो मुजफ्फरनगर के एक कॉलेज में बीएससी की पढ़ाई कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *