देश की परी ने छठा गोल्ड मेडल जीता ,पूरा देश बोले अब बस कर पगली वर्ना वो लोग रोयेंगे जिन्होंने बेटियों को कोख में मार दिया

हिमा पहले लड़कों के साथ फुटबॉल खेलती थीं और एक स्ट्राइकर के तौर पर अपनी पहचान बनाना चाहती थीं। हेमा ने कभी नहीं सोचा था कि वह भविष्य में एथलिट बनेंगी। वह लड़कों के साथ फुटबॉल खेलती थीं। एक बार स्थानीय कोच ने उन्हें सलाह देते हुए कहा था कि फुटबॉल की बजाए उन्हें एथलैटिक्स में अपना कैरियर बनाना चाहिए। वहीं हिमा के माता- पिता इस बात पर बिल्कुल राजी नहीं थे कि हिमा कहीं दूर जाकर ट्रेनिंग करें लेकिन हिमा के कोच निपॉन ने परिवार वालों को जैसे तैसे राजी कर लिया जिसके बाद हिमा दास को उनके कोच ने ट्रेनिंग देनी शुरू की।हिमा पर निपॉन को इतना भरोसा था कि 2017 में नैरोबी में हुई यूथ वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए उन्होंने क़र्ज़ तक ले लिया। ताकि हिमा वहां दौड़ने जा सके। जब हिमा ने पहला गोल्ड जीता तो उनके परिवार वालों को खबर भी नहीं थी। उनके पिता रोज की तरह ककड़ी सिर पर रखने बेचने जा रहे थे तभी खबर मिली बेटी ने गोल्ड मेडल जीत लिया है। मीडिया की गाडियों ने आकर घेर लिया।आज देखिए हिमा दास कहां से कहां पहुंच गई हैं। वो देश के लिए 20 दिनों में 6 गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं। हिमा के लगातार शानदार प्रदर्शन की वजह से उनकी ब्रैन्ड वैल्यू बढ़ गई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, उनके इस प्रदर्शन की वजह से एंडोर्समेंट फीस तीन हफ्तों के भीतर दोगुनी हो गई है। हिमा का प्रतिनिधित्व करने वाली स्पोर्ट्स मैनेजमेंट फर्म आईओएस के मैनेजिंग डायरेक्टर नीरव तोमर के मुताबिक,‘पिछले तीन हफ्तों में लगातार शानदार प्रदर्शन करने की वजह से हिमा की ब्रैंड वैल्यू दोगुनी हो गई है। ब्रैंड एंडोर्समेंट का सीधा जुड़ाव प्रदर्शन और सेलिब्रिटी के नजर आने से जुड़ा होता है। उनकी दुनियाभर में सभी प्लेटफॉर्म पर चर्चा हो रही है।’ बता दें कि भारत में किसी अन्य खेल के मुकाबले क्रिकेट खिलाड़ियों की फीस काफी ज्यादा है। हालांकि, अब अन्य खेलों के खिलाड़ियों के लिए स्थिति तेजी से बदल रही है।19 वर्षीय हिमा दास असम की रहने वाली है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हिमा की फीस एक ब्रैंड के लिए सालाना 30-35 लाख थी, जो कि अब 60 लाख रुपए सालाना पहुंच गई है। अब हिमा के लिए वॉच ब्रैंड, टायर, एनर्जी ड्रिंक ब्रैंड, कुकिंग ऑयल और फूड जैसी कैटेगरी के ब्रैंड से नई डील के लिए बातचीत की जा रही है। फिलहाल, हिमा के मौजूदा एंडोर्समेंट में एडिडास स्पोर्ट्सवियर, एसबीआई, इडलवाइज फाइनेंशियल सर्विसेज और नॉर्थ-ईस्ट की सीमेंट ब्रैंड स्टार सीमेंट शामिल हैं। बता दें एक महीने के भीतर हिमा पांचवां स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं। उनकी इस कामयाबी से पूरा देश गौरवान्वित है।
थिंक मीडिया ब्यूरो रिपोर्ट कहानी एक परी की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *