गोल्ड मेडल विजेता बिटिया का बनारस नगरी में हुआ ईंट-पत्थरों से स्वागत

वाराणसीः आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में भारत को पांचवां स्वर्ण पदक दिलाने वाली वीजेता पर पत्थरों से हमला किया। भारोत्तोलन में स्वर्ण पदक जीतने की खुशियां बांटने पूनम परिवारवालों के साथ शनिवार को बुआ के घर के लिए गई हुई थी। इस दौरान पूनम यादव पर रोहनियां क्षेत्र दबंगों ने पुलिस की मौजूदगी में हमला किया।

 

वहां पहुंचते ही लाठी-डंडों से लैस कुछ लोगों ने पूनम पर पथराव करते दौड़ा लिया। बेटी को घिरता देख पिता कैलाश यादव, चाचा गुलाब व भाई छोटू बीच बचाव करने लगे। इस पर ग्रामीणों ने उनकी भी पिटाई की है।

 

पूनम ने पुलिस को बताया कि गांव में उनकी बुआ का पड़ोस में रहने वाले गांव के प्रधान से झगड़ा हुआ था। बात बढ़ी तो प्रधान ने अपने समर्थकों के साथ उन पर ईंट-पत्थरों से हमला कर दिया। मौके पर पूनम भी मौजूद थीं। वे अपने रिश्तेदारों के साथ वहां से जान बचाकर भागी। प्रधान के समर्थकों ने वाहनों में तोड़फोड़ कर दी। इसके बाद पूनम ने 100 नंबर पर डायल करके पुलिस को बुलाया।

 

गौरतलब है कि, पूनम ने 69 किलोग्राम कैटेगरी में स्नैच में 100 किलोग्राम और क्लीन एंड जर्क में 122 किलोग्राम वजन के साथ कुल 222 किलोग्राम वजन उठाया था। जिसमें उन्हें गोल्ड मेडल मिला था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.