मिलिए, देश की पहली महिला वकील से जो सीधे बन रहीं SC की जज

 

देश में महिलाएं आज हर क्षेत्र में अपना योगदान दे रही है। और ऐसा पहला बार होगा जब कोई महिला जज सीधे सुप्रीम कोर्ट में जज बनी है। ये महिला वकील हैं, इंदु मल्होत्रा। इंदु देश की पहली वकील हैं जो सीधे जज बनने वाली हैं।

जानिए उनके बारे में ये खास बातें…

  1. इंदु मल्होत्रा पहली महिला वकील हैं जो सीधे सुप्रीम कोर्ट की जज बन रही हैं।
  2. सुप्रीम कोर्ट की सातवीं महिला जज बनेंगी। उनसे पहले जस्टिस एम फातिमा बीबी, जस्टिस सुजाता वी मनोहर, जस्टिस रूमा पाल, जस्टिस ज्ञान सुधा मिश्रा, जस्टिस रंजना प्रकाश देसाई और जस्टिस और भानुमति सुप्रीम कोर्ट की जज बन चुकी हैं।
  3. वर्तमान में जस्टिस आर भानुमति सुप्रीम कोर्ट की अकेली महिला जज हैं।
  4. उनका जन्म बंगलौर में 1965 में हुआ।
  5. उन्होंने दिल्ली के श्रीराम कॉलेज से पॉलीटिकल साइंस और फिर बाद में मास्टर की डिग्री हासिल की।
  6. साल 1983 से वह प्रैक्टिस में हैं और कई अहम फैसलों में जजों की पीठ में रही हैं।
  7. इंदु मल्होत्रा वकील परिवार से ही ताल्लुक रखती हैं। उनके पिता ओम प्रकाश मल्होत्रा भी वकील थे व उनके भाई व बहन भी इसी पेशे से जुड़े हैं।
  8. वकालत शुरू करने से पहले कुछ समय के लिए उन्होंने दिल्ली के मिरांडा हाउस कॉलेज और विवेकानंद कॉलेज में भी पढ़ाया।
  9. इंदु ने 1983 में दिल्ली बार काउंसिल में रजिस्ट्रेशन कराया था।
  10. साल 1988 में वह सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट ऑन रिकॉर्ड चुनी गईं।
  11. साल 2007 में सुप्रीम कोर्ट ने इंदु को सीनियर वकील नियुक्त किया।
  12. इनसे पहले जस्टिस लीला सेठ को सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ वकील नियुक्त किया था।
  13. सेव लाइफ फाउंडेशन एनजीओ की बतौर ट्रस्टी हैं।