‘ऑपरेशन ऑल आउट’ से बौखलाए आतंकी संगठन, निकाल दिया आतंकियों की नई भर्ती

श्रीनगरः कश्मीर घाटी सेना पिछले काफी समय से आतंकियों का सफाया करने के लिए कई बड़े-बड़े सर्च ऑपरेशन चला रही है। जिसका सफल परिणाम अब देखा भी जा रहा है। खबर है कि, कश्मीर घाटी में सुरक्षा बल ऑपरेशन ऑल आउट से आतंकी संगठन बौखलाए हुए हैं। जिसेक कारण जम्मू- कश्मीर में पाकिस्तान के आतंकवादी संगठनों के पास लेबर फोर्स की बहुत ज्यादा कमी हो गई है।

 

इस कमी को पूरा करने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने कश्मीर में आतंकवादियों की भर्ती के लिए टेरर टैलेंट हंट प्रोग्राम चलाया है। पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी और आतंक का सरगना हाफ़िज़ सईद मिलकर युवाओं को बरगलाने में लगे हैं, ताकि उन्हें बहला-फुसला कर जिहाद की राह में आगे बढ़ाया जाए।

 

आपको बता दें कि ऑपरेशन ऑलआउट के जरिए सेना ने पिछले साल 208 आतंकवादियों को मारा गिराया था। और इस साल अब तक 59 आतंकवादियों को मार गिराया गया है।

 

गौरतलब है कि, कश्मीर में सक्रिय पाकिस्तान परस्त आतंकवादी संगठनों की लिस्ट में नंबर वन पर लश्कर ए तैयबा और नंबर दो पर हिज्बुल मुजाहिदीन का नाम आता है। भारतीय सेना के ऑपरेशन ऑलआउट में दोनों ही आतंकवादी संगठनों की हालत खराब हो चुकी है। इसलिए ISI ने हिज्बुल मुजाहिदीन को भी अंडरटेक कर लिया है।

 

वहीं, रक्षा विशेषज्ञ पी.के सहगल ने ऑपरेशन ऑलआउट के फेज टू में 14 आतंकियों की लिस्ट जारी की। पहले दस दिन में दो को मार गिराया गया है। ऑपरेशन ऑलआउट फेज वन में 30 में से 25 मुखिया को मार दिया था।