भरे कोर्ट में जूते से दरोगा की पिटाई, जज भी देखते रह गए नजारा

sub inspector beaten up

उत्तर प्रदेशः उत्तर प्रदेश में जब से योगी सरकार बनी है तबसे लगातार खाकी का इकबाल खत्म होता नजर आ रहा है। प्रदेश में लगातार खाकी के ऊपर हमला हो रहा है। नेता हो या फिर वकील लगातार खाकी को अपना निशाना बना रहे है। नया मामला उत्तर प्रदेश के सीतापुर से है जहां साथी अधिवक्ता को हिरासत में लिए जाने से नाराज अधिवक्ताओं ने कानून अपने हाथ में ले लिया और अपनी सारी हदें पार कर दी।

अधिवक्ताओं ने जज से मुलाकात करने गए पुलिस कप्तान प्रभाकर चौधरी के साथ न सिर्फ धक्का-मुक्की करते हुए उनका मोबाइल छीनने की कोशिश की गयी बल्कि उनके साथ तैनात सब इंस्पेक्टर को जमकर पीटा

क्या है पूरा मामला

डीएम शीतल वर्मा व एसपी प्रभाकर चौधरी बुधवार की सुबह शहर में अतिक्रमण के खिलाफ अभियान छेड़ा। इस दौरान सीतापुर अवध क्लब पर अफसरों ने छापेमारी की तो वहां से भारी मात्रा में शराब, 30 हजार रुपये की नकदी व अन्य आपत्तिजनक वस्तुएं बरामद हुई। इसके बाद इमारत को अवैध करार देते हुए ढहाया जाने लगा। अवध क्लब के अध्यक्ष व अधिवक्ता ओमप्रकाश गुप्ता और सेक्रेटरी रामपाल सिंह ने इसका विरोध किया तो पुलिस उन्हें लेकर कोतवाली चली गई। इसके बाद अवध क्लब की इमारत ढहा दी गई। जिला आबकारी अधिकारी की तहरीर पर क्लब के अध्यक्ष ओमप्रकाश गुप्ता, सेक्रेटरी रामपाल सिंह के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया। इस कार्रवाई की खबर वकीलों को मिलते ही वह उग्र हो गए।

विरोध करते हुए हंगामा शुरू कर दिया

शाम करीब 5:30 बजे एसपी मॉनीटरिंग सेल की मीटिंग के लिए जिला जज के केबिन गए थे। इसकी भनक लगते ही बार एसोसिएशन अध्यक्ष हरीश त्रिपाठी के नेतृत्व में कई वकील जिला जज के केबिन में जा धमके और क्लब के अध्यक्ष व अधिवक्ता पर कार्रवाई का विरोध करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। उग्र वकीलों ने एसपी के साथ गए पीआरओ संदीप पांडेय व प्रदीप की पिटाई कर दी। एसपी का मोबाइल छीनकर अभद्रता की

आपको ये भी रोचक लगेगा

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें Facebook PageYouTube और Instagram पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.