मस्जिद ब्लास्ट केसः नामंजूर हुआ सभी आरोपियों को बरी करने वाले जज का इस्तीफा

नई दिल्ली: 11 साल बाद हैदराबाद के मक्का मस्जिद ब्लास्ट मामले के नए फैसले में कोर्ट ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया था। जिसके कुछ ही देर बाद फैसला सुनाने वाले जज के. रवींद्र रेड्डी ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।

 

लेकिन वहीं अब ताजा जानकारी के मुताबिक, उनके इस इस्तीफे को नामंजूर कर दिया गया है और उन्हें छुट्टी खत्म कर काम पर लौट आने का आदेश दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक आंध्र प्रदेश और तेलंगाना हाई कोर्ट ने जज रेड्डी का इस्तीफा नामंजूर कर दिया है।

 

बता दें कि, रेड्डी ने अपने इस्तीफे के लिए निजी कारणों का हवाला दिया था और कहा था कि इसका मक्का मस्जिद के फैसले से कोई लेना-देना नहीं है। वहीं, एक अधिकारी ने कहा था कि जज रेड्डी काफी समय से इस्तीफा देने पर विचार कर रहे थे। जबकि, AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने जज के इस फैसले पर काफी हैरानी जताई थी।

 

जानकारी के मुताबिक, जज रविंद्र रेड्डी दो महीनों में रिटायर होने वाले थे। वो तेलंगाना जूनियर जज एसोसिएशन के अध्यक्ष थे। रिपोर्ट के मुताबिक दो साल पहले उन्हें नियुक्ति के मामले में राजभवन के सामने धरना देने के लिए सस्पेंड भी किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.