महंगा होगा अब मोबाइल खरीदना, GST Council ने बढ़ाई दरें

थिंक मीडिया न्यूज़ (संतोष तिवारी)

शनिवार को हुए बैठक में जीएसटी काउंसिल में मोबाइल फोन पर लगने वाले जीएसटी दरों को 6 फीसदी बढ़ाने का फैसला लिया गया है.

नई दिल्ली. वस्तु एवं सेवा कर काउंसिल ने शनिवार को बैठक में फैसला लिया है कि फर्टिलाइजर्स और फु​टवियर पर लगने वाली जीएसटी दरो में कोई बदलाव नहीं किया जाएगा. सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, टेक्सटाइल आइटम्स पर भी जीएसटी दरों को तर्कसंगत करने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया है. हालांकि, काउंसिल ने मोबाइल फोन्स पर लगने वाले जीएसटी दर को 12 फीसदी से बढ़ाकर 18 फीसदी कर दिया गया है.

GSTN की ​तकनीकी खामियों पर विस्तृत प्रेजेंटेशन

इसके साथ ही घरेलू मेंटेनेंस, रिपेयर और ओवरहॉल सर्विस प्रवाइडर्स को आज की बैठक में राहत दी गई है. काउंसिल ने यह फैसला 5 फीसदी की इनपुट टैक्स क्रेडिट में समानता लाने की वजह से लिया है. सूत्रों द्वारा दी गई जानकारी, जीएसटी नेटवर्क में तकनीकी खामियों की दूर करने के लिए नंदन निलकेणी ने विस्तृत प्रेजेंटेशन दिया है.

निलेकणी ने काउंसिल को आश्वासन दिया है कि जनवरी 2021 तक GSTN से जुड़े सभी तकनीकी खामियों को दूर कर दिया जाएगा.

सेस बढ़ने से रेवेन्यू घटने का डर

इस मामले की जानकारी रखने वाले एक शख्स ने बीते दिन बताया था कि सेस में बढ़ोतरी की गुंजाइश बेहद कम है. आर्थिक सुस्ती का दौर चल रहा है. अगर सेस बढ़ाया जाता है तो इस बात की आशंका है कि जो भी ​रेवेन्यू वर्तमान में आ रहा है, वह भी बंद हो जाएगा. साथ ही, जिन आइटम पर सेस लगाया गया है, उनपर टैक्स दर बढ़ाने का भी कोई ठोस कारण नहीं है.’