जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने जिला कारागार रायबरेली का किया औचक निरीक्षण

कमलेंद्र नाथ सिंह

जिलाधिकारी श्री अरुण कुमार व पुलिस अधीक्षक श्री दिनेश सिंह ने आज जिला कारागार रायबरेली का संयुक्त रूप से निरीक्षण किया गया। जनपद अमेठी में जिला कारागार न होने के कारण तहसील तिलोई के थाना जायस, फुरसतगंज, मोहनगंज व शिवरतनगंज के अपराधियों को रायबरेली जेल भेजा जाता है जिसको लेकर आज डीएम व एसपी ने जिला कारागार रायबरेली का निरीक्षण किया। जिला कारागार रायबरेली में जनपद अमेठी के 170 अपराधी बंद हैं, जिनमें से 15 अपराधी दोष सिद्ध हैं व 155 अपराधी न्यायालय में विचाराधीन है। इस दौरान जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा महिला बैरक, कारागार चिकित्सालय व अन्य बन्दियों की बैरकों का निरीक्षण किया गया। चिकित्सालय में भर्ती बंदियों के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली एवं उनके समुचित उपचार हेतु डॉक्टरों को निर्देश दिए। इसके बाद उन्होंने बैरकों में कैदियों के सामानों एवं बिस्तरों की सघन तलाशी ली गयी। डीएम ने बैरकों में नियमित रूप से साफ-सफाई कराने हेतु अधीक्षक को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि जेल के अन्दर किसी भी तरह के प्रतिबन्धित सामाग्री को अन्दर कदापि न जाने दिया जाये। जिला कारागार में जिलाधिकारी ने जनपद अमेठी के कैदियों से बात-चीत कर उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी ली, बन्दियों द्वारा परिवार वालों से मुलाकात करने की समस्या बताई, जिस पर जिलाधिकारी ने कैदियों को अवगत कराया कि शासन के निर्देश पर कोविड-19 के दृष्टिगत मुलाकात बंद है इसके लिए उन्होंने फोन के माध्यम से बंदियों के घरवालों से बात कराने के निर्देश जेल अधीक्षक को दिए। जिलाधिकारी ने जिला कारागार में रसोई घर का भी निरीक्षण किया और साफ-सफाई से भोजन बनाये जाने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि प्रतिदिन समस्त बैरकों में बन्दियों की सघन तलाशी करायी जाये यदि किसी बन्दी के पास कोई आपत्तिजनक वस्तुयें बरामद हो तो तत्काल सम्बन्धित के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा कि बन्दियों के भोजन गुणवत्ता की भी समय पर जांच कराते रहे तथा शौचालय एवं नालियों आदि की समुचित सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये।