क्या बेटे की जिद्द की वजह से योगी से मिले मुलायम? अपना घर बचाने के लिए मांगी मदद

लखनऊः सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश के सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों के बेघर होने की नौबत आ गई है। दरअसल कोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए आदेश दिया था कि, उत्तर प्रदेश के सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को अफना सरकारी बंगला छोड़ना होगा। जिसके लिए मई तक का वक्त दिया गया था।

वहीं, इसी सिलसिले में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी निवास पर मुलाकात की। दोनों के बीच करीब आधा घंटे बातचीत हुई, लेकिन इसे सार्वजनिक नहीं किया गया। जिसमें ये खबर आ रही है कि, इस दौरान उनके बीच इसी मुद्दे के हल को लेकर बात हुई है।

 

 

जानकारी के मुताबिक, मुलायम ने योगी से कहा कि विक्रमादित्य मार्ग स्थित बंगला नंबर चार और पांच सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद खाली किया जाना है। उन्होंने सुझाव दिया कि विधानभवन में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी और विधान परिषद में नेता विरोधी दल अहमद हसन के नाम आवंटित कर दिए जाएं। इससे सुप्रीम कोर्ट के निर्देश का पालन भी हो जाएगा और मुलायम और अखिलेश को तुरंत बंगला खाली करने की नौबत नहीं आएगी।

 

 

खबर तो ये भी है मुलायम सिंह यादव ने योगी से यह मुलाकात अखिलेश यादव के कहने पर की है क्योंकि मुलायम के भाजपा नेताओं के साथ अच्छे रिश्ते रहे हैं।

 

 

गौरतलब है कि, 2014 में प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में मुलायम पीछे बैठे थे लेकिन अमित शाह मुलायम को हाथ पकड़कर आगे लाए। उन्होंने मुलायम को आगे बैठाया। पिछले साल 19 मार्च को बतौर सीएम, योगी के शपथग्रहण समारोह में मंच पर ही मुलायम और प्रधानमंत्री मोदी की बातचीत काफी चर्चा में रही थी। इसके अलावा सैफई में मुलायम के पौत्र तेज प्रताप की शादी में भी मोदी गए थे।

 

 

बता दें सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, एनडी तिवारी, कल्याण सिंह, राजनाथ सिंह और मायावती को आवास खाली करने पड़ रहे हैं।