फिल्मी अंदाज में किया किडनैप और फिर फिरौती में मांगा 25 किलो सोना

Mirzapur Uttar Pradesh kidnapping man demand 25 kg gold

मिर्ज़ापुर/उत्तर प्रदेश: प्रदेश के इलाहाबाद के मिर्जापुर में अपहरण का एक चौकांने वाला मामला सामने आया है। घटना को अंजाम पूरी तरह से फिल्मी तरीके में दिया गया है। जानकारी के मुताबिक पुलिस की वर्दी पहने दो बाइक सवार लोगों ने रात के समय एक ग्रामीण युवक को कट्टे के बल पर बाइक पर बैठाकर अगवा किया।

जिसके बाद अपहरणकर्ताओं ने युवक के परिजनों से फिरौती के तौर पर 25 किलो सोने की मांग की। बताया जा रहा है कि अपहृत युवक के परिजनों को कुछ साल पहले जमीन में गड़ा हुआ सोना मिला था। जिसे लेकर अब पुलिस भी कई तरह से उलझी नजर आ रही है।

Mirzapur Uttar Pradesh kidnapping man demand 25 kg gold

क्या है पूरा मामला

ये घटना बजटा गांव के चकिया मजरा का है। यहां के रहने वाले श्रीकान्त बिन्द घर से महज कुछ कदम की दूरी पर स्थित गुमटी पर चाय पीने गए थे। गुमटी पर पहले से ही गांव के तीन चार लोग भी खडे थे कि रात आठ बजे के करीब जिगना की तरफ से दो मोटर साइकिल सवार हेलमट पहने लोग पुलिस की वर्दी में गुमटी पर पहुंचे।

पहले तो बाइक पर बैठे लोगों ने वहां से श्रीकान्त बिन्द का पता पूछा। लेकिन बिन्द वहां पर पहले से ही मौजूद थे तो उन्होंने अपने बारे में उन्हें बताया। जिसके बाद अपहरणकर्ताओं ने श्रीकान्त बिन्द को जबरन पकड़ कर मोटर साइकिल पर बैठा लिया और नयेपुर से घुघुडी मार्ग नहर पटरी के रास्ते होते हुए फरार हो गए।

वहीं गमुटी पर खड़े लोग देखते रहे और अपरहरणकर्ता युवक को अगवा कर ले गए। वहीं प्रत्यक्षदर्शियो का कहना है कि अपहरणकर्ताओं ने श्रीकान्त की कमर पर कट्टा लगाकर उसे  मोटरसाइकिल पर बैठा लिया और किसी को भनक तक नही लगी।

मांगा 25 किलो सोना

श्रीकांत बिन्द के परिजनों का कहना है कि, अगवा करने वालों ने उन्हें रात लगभग 11 बजे श्रीकान्त के मोबाइल से ही उसके पिता नन्दलाल को फोन किया था। और बदले में 25 किलो सोने की मांग की।

परिजनों ने दिखाई होशियारी

मौके पर ही परिजनों ने सारी घटना पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस ने परिजनों को वैसा ही करने के लिए कहा जैसा अपहरणकर्ताओं ने कहा था। इसके बाद रात करीब 12:30 बजे अपहरणकर्ताओं ने इलाहाबाद जनपद के घुघुडी गांव के पास नहर पुलिया पर सोना लेकर आने के लिए कहा। जहां पर परिजन के साथ छिपते हुए पुलिस भी गई।

वहां पहुंचने पर अपहरणकर्ताओं ने नंदलाल को फिरौती वाली जगह पर झोला रखने के लिए कहा। जैसे ही पिता नंदलाल ने फिरौती वाला झोला रखा उसके बाद अपहरणकर्ताओ ने उन्हें पीछे होने को कहा। इसी बीच अपहरणकर्ता फिरौती का झोला लेने पहुंचे और फिर पुलिस से मुठभेड़ हो गई।

हालांकि, अपहरणकर्ता पुलिस से बचकर फरार हो गए। वहीं, इतना सब होने के बाद भी युवक की कोई जानकारी नहीं लगी है।

अपहृत श्रीकांत के परिवार को कुछ साल पहले मिला था सोना

बता दें कि, युवक के परिवार वालों का कहनना है कि, कुछ साल पहले उन्हें जमीन में गड़ा हुआ सोना मिला था जिसके बारे में उनके रिश्तदारों को भी पता थी। वहीं, अब पुलिस इस मामले में रिश्तेदारों से भी पूछताछ कर रही है।

Reported by: अनूप कुमार, रीज़नल हेड मिर्ज़ापुर, उत्तर प्रदेश, थिंक मीडिया ब्यूरो रिपोर्ट

ये भी पढ़ें

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें Facebook PageYouTube और Instagram पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.