पड़ोसी ने जबरन पानी का निकास कर दिया बन्द, छप्पर गिरा- घर मे घुसा पानी

ब्यूरो रिपोर्ट

 

 

 

बारिश का मौसम क्या आया, गांवों में पानी की निकासी के जंग शुरू हो गया। पड़ोसी अपने पड़ोसी के दरवाजे के पानी बन्द कर दे रहा है जिससे घरों में पानी घुसने लगा और लड़ाई झगड़े शुरू हो गए।

ताजा मामला अमेठी के संग्रामपुर थाना क्षेत्र के सकरमाना पट्टी धोएं गांव का है। गांव के दो परिवार राम मूरत यादव व स्वामी नाथ यादव का मकान आमने सामने है। राम मूरत यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि सरहंगई के बल पर आये दिन स्वामी नाथ यादव अपने रसूख व पकड़ के बल पर परेशान करता रहता है। थाना संग्रामपुर व चौकी टीकरमाफी इंचार्ज से स्वामी नाथ की कारगुजारियों से आजिज आकर शिकायत किया लेकिन पुलिस टाल देती है व रसूख के चलते पीड़ित को ही  डाट डपट कर भगा दिया जाता है।

पीड़ित राम मूरत यादव ने बताया कि बारिश के दौरान विपक्षी ने पानी निकलने के रास्ते को जबरन बन्द कर दिया जिससे पूरे घर के अंदर पानी भर गया। मकान के आगे का छप्पर गिर गया। मामले की जानकारी चौकी टीकरमाफी व डायल 100 को दिया। पुलिस मौके पर आई तो विपक्षी के द्वारा पानी के रास्ते को न खुलवाकर मुझे धमका कर चले गए।

मामले को उलझाने में क्षेत्रीय लेखपाल व कानूनगो की भी भूमिका संदिग्ध है। लेखपाल ने भ्रष्टाचार करते हुए पीड़ित के ही दरवाजे व सहन की जमीन को विपक्षी को 67 ए का लाभ देकर और परेशान कर दिया।
पीड़ित ने इस संबंध में उच्चाधिकारियों का दरवाजा खटखटाया लेकिन रसूख व सरहंगई के बल पर हर जगह न्याय पाने में रोड़ा अटकाता रहता है।

क्या पुलिस व प्रशासन को पीड़ित राम मूरत यादव का घर गिर जाने का इंतजार है या उसके परिवार में किसी अनहोनी घटना का इंतजार है। क्या प्रशासन की कुम्भकर्णी नींद तब खुलेगी जब पानी से डूबे घर कर गिरने से उसके परिजन दब जाएंगे। आखिर कब जागेगा प्रशासन।

Leave a Reply

Your email address will not be published.