CTET: जानिए, एग्जाम हॉल से जुड़े जरूरी नियम और पेपर क्लीयर करने के खास टिप्स

Think media Ctet 2018 exam rules pattern details

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (CTET) का आयोजन किया गया। जिसके तहत देश के 9द शहरों में इस परीक्षा का आयोजिन किया गया। इसमें भाग लेने वाले परीक्षार्थियों को दो पेपर देने होते है। पहला पेपर-1 प्राइमरी टीचर्स के लिए और दूसरा पेपर-2 उच्च प्राथमिक टीचर्स पद के लिए होती है।

इस बार प्राथमिक स्तर की परीक्षा यानी पेपर-1 के उम्मीदवार दोपहर 2 बजे से शाम 4:30 बजे तक की पारी में होने वाली परीक्षा में शामिल होना होता है जबकि, पेपर-2 उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए उम्मीदवार सुबह 9:30 से 12 बजे तक होने वाली परीक्षा में भाग लेना होता है।

ऐसे उपकरणों पर पाबंदी

परीक्षा देने वाले उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्र में टेक्स्ट मैटेरियल, पेपर, पेंसिल बॉक्स, स्केल, राइटिंग पैड, कार्डबोर्ड के साथ-साथ किसी भी तरह के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस ले जाने पर पाबंदी रहती है।

परीक्षा पैटर्न

इसमें में ऑब्जेक्टिव टाइप के सवाल पूछे जाते है। बता दें कि, ये परीक्षा 20 भाषाओं में होती है। उम्मीदवार 22 भाषाओं में से अपने पसंद की किसी एक भाषा में परीक्षा दे सकते है। इन भाषाओं में अंग्रेजी, हिंदी, असमी, बांग्ला, गारो, गुजराती, कन्नड़, खासी, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, मिजो, नेपाली, उड़िया, पंजाबी, संस्कृत, तमिल, तेलुगू, तिब्बती और उर्दू शामिल होती है।

पास होने के जरूरी नंबर

CTET परीक्षा में पास होने के लिए उम्मीदवारों के 60 प्रतिशत अंक लाने जरूरी होते है। हालांकि, एसएससी/ एसटी/ ओबीसी/ दिव्यांग उम्मीदवारों को 5 नंबर की छूट दी जाती है। वही, इस परीक्षा को पास करने के बाद इसका सर्टिफिकेट अगले 7 सालों के लिए मान्य रहता है।

ये भी पढ़ेंः

 

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें Facebook PageYouTube और Instagram पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.