PNB घोटाले पर CBI का पहला एक्शन, इलाहाबाद बैंक के कई बड़े अफसरों पर गिरेगी गाज

नई दिल्लीः पंजाब नेशनल बैंक से जुड़े 13 हजार करोड़ के धोखाधड़ी मामले में सीबीआई ने बड़ा कदम उठाया है। सीबीआई ने मुंबई स्पेशल कोर्ट में सोमवार को इस मामले से जुड़ी अपनी पहली चार्जशीट दायर की है। जिसमें बैंक की पूर्व प्रमुख ऊषा अनंतसुब्रमण्यन के साथ ही कई बड़े अधिकारियों समेत कुल 25 लोगों के नाम भी शामिल हैं। इस याचिका में पीएनबी और इलाहाबाद बैंक के 3 बड़े अधिकारियों को उनके पद से बर्खास्त करने की भी मांग की गई है।

 

 

बता दें कि, ऊषा फिलहाल इलाहबाद बैंक की सीईओ और एमडी के पद पर तैनात हैं। यह आरोप-पत्र एजेंसी द्वारा 31 जनवरी को दर्ज पहली प्राथमिकी के आधार पर तैयार किया गया है, जिसमें नीरव मोदी, उसकी पत्नी अमी, भाई निशल और मामा चोकसी समेत अन्य को आरोपी करार दिया गया है।

 

 

हालांकि अभी तक इनमें से किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। आरोपियों पर लापरवाही बरतने और RBI के दिशा-निर्देशों के पालन न करने का आरोप लगा है। इसके अलावा चार्जशीट में नीरव मोदी की कंपनियों, फायरस्टार इंटरनेशनल, स्टेलर डायमंड, डायमंड्स आर यूएस और सोलार एक्सपोर्ट्स को भी शामिल किया गया है।

 

इस चार्जशीट में पीएनबी के दो कार्यकारी निदेशक के वी ब्रह्मजी राव व संजीव शरन और इंटरनेशनल ऑपरेशन के जीएम नेहाल अहद का भी नाम सामने आ रहा है।