ताजमहल की सुरक्षा में बड़ी चूक, ड्रोन उड़ाते पकड़ा गया चीन का नागरिक

आगराः दुनिया के सातवें अजूबे में शुमार आगरा के ताजमहल में एक बार फिर सुरक्षा को लेकर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है। बुधवार को ताजमहल के फोरकोर्ट में एक चीनी पर्यटक ने ड्रोन उड़ाने का प्रयास किया। हालांकि, उसका ड्रोन हवा में उपर की तरफ जाता इससे पहले ही सीआईएसएफ के जवानों ने चीन के पर्यटक की हरकतों को देख लिया और उसे पकड़ लिया।

Caught dron tajmahal agra

इस घटना के बाद चीनी पर्यटक ने लिखित में माफी भी मांगी। जिसके बाद उसे वहां से जाने दिया गया। हालांकि, इस घटना के बाद अब सवाल यह खड़ा हो रहा है कि, ताज के अंदर चीनी यात्री ड्रोन कैसे ले गया। बता दें कि, कड़ी सुरक्षा और जांच के बाद ही पर्यटकों को ताज के अंदर जाने की अनुमति मिलती है।

यह भी पढ़ेंः राम मंदिर पर मौर्य ने खोला बड़ा राज,जनता का भरोसा खो सकती है PM मोदी की सरकार

सुबह हुई घटना

सीआईएसएफ के मुताबिक ये घटना सुबह के वक्त हुई थी। उनको जैसे ही इसकी जानकारी मिली उन्होंनें पुलिस को इसकी सूचना दी। उन्होंने पुलिस को बताया कि, कोई विदेशी पर्यटक ड्रोन लेकर अंदर तक आ गया है। रॉयल गेट के सामने ड्रोन उड़ाने का प्रयास कर रहा था। जिसके बाद मौके पर पुलिस ने पहुंच कर सारा मामला संभाला।

बीजिंग निवासी है पर्यटक

घटना को अंजाम देने वाले पर्यटक का नाम गुआन जियोंग बताया जा रहा है। वो चीन के बीजिंग का रहने वाला है। उसने पुलिस पूछताछ में बताय कि, वो अपने एक दोस्त के साथ आगरा आया है। और खैराती टोला के एक गेस्ट हाउस में रुका हुआ है। उसे इस बात की जानकारी नहीं थी कि, ताज के अंदर ड्रोन ले जाना मना है। उसने ये भी बताया कि, गेट पर एंट्री के समय उसकी चेकिंग भी हुई थी लेकिन इस दौरान भी उसे इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई।

यह भी पढ़ेंः सच या..! क्या बीजेपी की वजह से कंगाल हो रही है कांग्रेस पार्टी?

गुआन जियोंग ने पश्चिमी गेट पर सुबह साढ़े छह बजे टिकट खरीदा। बैग में पानी की बोतल के साथ ड्रोन भी रखा हुआ था। डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर में भी इसे नहीं पकड़ा गया। सुबह आठ बजे रॉयल गेट के सामने गुआन ने ड्रोन निकाला फिर उसे उड़ाने का प्रयास करने लगा। जिसके बाद ही उसके ड्रोन को पकड़ा जा सका। बता दें कि, ताजमहल की आंतरिक सुरक्षा सीआईएसएफ के पास है। ऐसे में इस बड़ी गलती की जांच भी सीआईएसएफ के स्तर पर की जा रही है।

चेंकिग पर उठ रहे सवाल

ताज परिसर में चेंकिग की व्यवस्था देख रहे सुरक्षा अधिकारियों पर अब सवाल उठ रहा है कि, अगर उनसे इतनी बड़ी भूल हो सकती है तो फिर चेंकिग किस बात की जा रही है। साथ ही चेंकिग के दौरान पर्यटकों को ये भी बताया जाता है कि, परिसर के अंदर वे किस तरह के सामान अपने साथ अंदर ले जा सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः अब मर्द भी ले सकेंगे गर्भनिरोधक गोली का सहारा, इस तरह करती है काम

पहले से ही जारी की गई है एडवायरी

ताजमहल की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने भी सख्त निदेश दिये हैं। सुरक्षा के लिहाज से यह नो फ्लाइंग जोन में शामिल है। यहां किसी प्रकार की हवाई गतिविधियां नहीं हो सकतीं हैं। ड्रोन उड़ाने के लिए आगरा पुलिस ने एडवायरी पहले से जारी की हुई है।

Watch: भारतीय नेवी के जज्बे को सलाम,9 महीने की प्रेग्नेंट महिला के लिए बनें भगवान

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें Facebook PageYouTube और Instagram पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.