मिलिए बिहार के IPS निशांत तिवारी से जो दिन में ऑफिसर, तो शाम होते ही बन जाता है गरीब बच्चों का ट्यूशन टीचर

bihar ips officer nishant tiwari

समाज के लिए अगर कुछ करने की आपकी सच्ची चाह हो तो कोई आपको रोक नहीं सकता। जरूरत है तो बस पहल करने की। किसी की जिंदगी बनाने के लिए आपका एक प्रयास कइयों के लिए मिसाल बन सकता है।

bihar ips officer nishant tiwari

समाज को सही दिशा दिखाने की ऐसी ही एक पहल IPS अधिकारी निशांत तिवारी ने की है, जिन्होंने अपने दम पर अच्छे समाज की तस्वीर बनाने की ठानी है। बिहार में सीमावर्ती जिले पूर्णिया के पुलिस अधीक्षक निशांत कुमार तिवारी समाज में व्यवस्था बनाए रखने के अपने प्रयासों के साथ बिहार के पूर्णिया जिले में रह रहे प्रवासी मजदूरों के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देते हैं।

 

bihar ips officer nishant tiwari

‘शाम की पाठशाला’ नाम के इस शिक्षा मंदिर में निशांत ऐसे परिवारों के बच्चों को पढ़ाते हैं, जो दूसरे राज्यों से यहां मजदूरी के चलते आते हैं। निशांत अपनी इस कक्षा में बच्चों के साथ-साथ अनपढ़ मजदूरों को भी पढ़ाते हैं। निशांत की इस पहल में कई लोग उनका साथ देने आगे आ रहे हैं।

 

bihar ips officer nishant tiwari

निशांत तिवारी जो पहले एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में अमेरिका में काम करते थे, पुलिस बल में शामिल होने के लिए भारत लौट आए। आज वह अपने व्यस्त समय में से कुछ घंटे निकालकर शाम के समय अपनी इस कक्षा में अपने अन्य साथियों के साथ रोज आते हैं। निशांत से पढ़ने आने वाले बच्चे उन्हें बेहद पसंद करते हैं और उन्हें अपना हीरो मानते हैं।

 

bihar ips officer nishant tiwari

गौरतलब है कि, एक तरफ जहां देश के विदेशों में जाकर एक अच्छी नौकरी करना चाहते हैं, वहीं बिहार के बेटे निशांत कुमार ने अमेरिका में अपनी एक अच्छी नौकरी छोड़कर देश की  सेवा करते हुए गरीब बच्चों को पढ़ाने का जिम्मा लिया है।

 

Reported by: संतोष तिवारीथिंक मीडिया ब्यूरो रिपोर्ट

ये भी पढ़ें

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें Facebook PageYouTube और Instagram पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.