क्योंकी सपने भी सच होते हैं – एक हकीकत

क्योंकी सपने भी सच होते हैं, में आज की कहानी एक साधारण परिवार में जन्म लेकर अपनी पूरी मेहनत और लगन से मंजिल हासिल करने वाले डॉक्टर प्रमोद मिश्रा की है ।
उत्तर प्रदेश के
प्रतापगढ़ जिले के छोटे गांव चौबेपुर के एक साधारण परिवार से ताल्लुक रखते हैं
डाक्टर प्रमोद मिश्रा का जन्म 26जुलाई 1987 को हुआ था
उनके पिता जी का नाम बृजकिशोर मिश्रा हैं


डाक्टर प्रमोद मिश्रा 5 भाईयों में 4 नम्बर के थे , लेकिन इनके पिता जी ने 5 भाईयों को हर मुश्किल का सामना करते हुए एक नई दिशा दी, डाक्टर प्रमोद मिश्रा ने जिस क्षेत्र को अपनी कर्म भूमि के रुप में चुनाव किया काफी मुश्किल था।
क्योंकी परिवार या फिर आस पास कोई भी ऐसा नहीं था जिससे मदद् मिलती , फिर भी हर मुश्किल होते हुए भी उनके पिता जी ने उनके सपने को पूरा करने में साथ दिया।

उनकी माता जी एक गृहणी होते हुए भी उनकी पढ़ाई में हरसंभव मदद की , उनके हर सपने को अपना सपना समझ कर जीती थी।

डाक्टर प्रमोद मिश्रा बचपन से ही समाज और लोगों की सेवा को ही सर्वोपरि मानते थे और इसी लिए अपनी बचपन की पढ़ाई पूरी करने के बाद आगे की पढ़ाई के लिए कॉलेज- संत सहारा मेडिकल कॉलेज और होस्पिटल पंजाब से की

20 जनवरी2017 उनकी शादी ओजस्वी उपाध्याय से हुई जो बलिया में सिविल इंजीनियर है।


डाक्टर प्रमोद मिश्रा एक जरनल फिजीशियन के रुप में उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में अपनी सेवाएं दे रहे हैं

ये थी हमारी आज की कहानी
मैं संतोष कुमार तिवारी को-फाउंडर थिंक मीडिया न्यूज़ की पूरी टीम की तरफ से डाक्टर प्रमोद मिश्रा जी को आज उनके जन्मदिन के अवसर पर बधाई देता हूं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.