फरवरी 2019,रात 9 बजे के बाद किसी भी ATM में नहीं होगा कैश रिफिल,क्यों?

think-media-atm-no-cash-replenishment

जल्द ही लोगों को एक बार फिर से कैश की किल्लत झेलनी पड़ सकती है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक नई अधिसूचना जारी की है। जिसके मुताबिक, 8 फरवरी, 2019 से देश भर के शहरी क्षेत्रों के किसी भी ATM में रात 9:00 बजे के बाद पैसे नहीं डाले जाएगा।

atm no cash replenishment

वहीं, ग्रामीण इलाकों के ATM में शाम 6:00 बजे के बाद पैसे नहीं डाले जायेंगे। केंद्र ने अपने इस फैसले के पीछे भी एक बड़ी वजह बताई है। केंद्र का कहना है कि, आंतरिक और बाहरी धोखाधड़ी के साथ नकदी वैन और वॉल्ट पर हमलों की घटना बढ़ गई है। ऐसे में इस काम में जान और माल दोनों के लिए खतरा देखा जा रहा है। जिसकी वजह से मंत्रालय ने ये कदम उठाया है।

ये भी पढ़ेः रेप कर रहे लड़कों को कुत्ते ने काटा, बच गई 14 साल की बच्ची की आबरू

क्यों लिया गया फैसला ATM no cash replenishment

क्यों लिया गया फैसला ये फैसला? इसके बारे में केंद्र ने अपनी अधिसूचना में कहा है कि, “शहरी इलाकों में ATM में कैश भरने या फिर नकदी संबंधित परिवहन गतिविधियां रात 9 बजे के बाद नहीं की जाएंगी। इसके अलावा ग्रामीणों इलाकों में शाम 6 बजे के बाद और केंद्र सरकार द्वारा वामपंथी अतिवाद (LWE) प्रभावित क्षेत्रों के रूप में अधिसूचित जिलों में सुबह 9 बजे से पहले और शाम 4 बजे के बाद ऐसी कोई गतिविधि नहीं होगी,”।

atm no cash replenishment

इसके साथ ही मंत्रालय ने एजेंसियों को भी कुछ जरूरी निर्देश दिए हैं। जिसके मुताबिक, एजेंसियों को नकद परिवहन के लिए निजी सुरक्षा का बेहद ध्यान रखना होगा। इस काम में एक वैन ड्राइवर, दो Armed security guard, दो एटीएम अधिकारियों को ही लगाया जाएगा। जिन्हें इस काम के लिए अच्छी ट्रेनिग भी दी जाएगी। साथ ही भी निश्चित करना होगा कि, जिस वाहन से पैसें भेजे जा रहे हैं वो भी पूरी तरह से सुरक्षित हो। इन वाहनों में JPS TRACKING के साथ-साथ CCTV सिस्टम और केबिन के अंदर, पीछे और सामने तीन कैमरे भी लगे होने चाहिए।

ये भी पढ़ेः इस तरह धीरे-धीरे आपके शरीर को खोखला करता है थायराइड, जानें इसके लक्षण

atm no cash replenishment

एक बार में सिर्फ 5 करोड़ रुपये (ATM no cash replenishment)

इसके अलावा अधिकारियों को ये भी ध्यान में रखना होगा कि, वैन एक बार में सिर्फ 5 करोड़ रुपये ही ले जा सकती है। बता दें कि, पिछले कुछ दिनों में रात के समय में कैश वैन के साथ चोरी की घटनाएं बढ़ गई है। जानकारी के मुताबिक, देश भर में 8,000 से अधिक निजी कैश वैन काम करती है। जो गैर-बैंक निजी एजेंसियों द्वारा नियंत्रित की जाती हैं। जो बैंकों की ओर से हर रोज 15,000 करोड़ रुपये से अधिक पैसे ATM में डालते है।

watch this video: सारे राजनेताओं से क्यों सबसे अलग थे ‘अटल बिहारी वाजपेयी’

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें Facebook PageYouTube और Instagram पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.