बिजली का समाधान नही तो चुनाव में मतदान नही

जैसे जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आता जा रहा है वैसे वैसे ही जनता सरकार के झूठे वादों आजिज आकर नेताओं को सबक सिखाने की ठान रखी है और उसके पास चुनाव बहिष्कार करने के अलावा और कोई चारा नहीं दिख रहा है।

ताजा मामला अमेठी संसदीय क्षेत्र के  मुसाफिरखाना कस्बे के वार्ड नम्बर 4 का है जहां के लोगों ने इस बार आगामी लोक सभा चुनाव में मतदान बहिष्कार करने की घोषणा की है। कस्बेवासियो ने बताया पिछले कई महीने से उन्हें ग्रामीण फीडर से विद्युत आपूर्ति की जा रही है जब कि बिल कस्बे के दर से वसूला जा रहा है इसलिए उन्होंने ‘बिजली का समाधान नहीं तो लोक सभा चुनाव में मतदान’ नही जैसे स्लोगन के पोस्टर अपने घरों के मुख्य द्वारा पर चस्पा कर दिये हैं।

दरअसल अमेठी जनपद के मुसाफिरखाना के वार्ड नम्बर 4 के लोगों को इस बात का मलाल है कि हर चुनाव में बिजली की समस्याओं पर लंबी चौड़ी बातें होती है,परंतु समस्याओं का निराकरण कुछ नहीं होता। कस्बेवासियों का कहना है कि उन्हें पिछले कई महीने से ग्रामीण फीडर और ग्रामीण रोस्टर के अनुसार ही विद्युत आपूर्ति कराई जा रही है जबकि उनसे बिजली का बिल कस्बे के दर से वसूला जा रहा है ।

कस्बेवासियो ने बताया कि उन्होंने कई बार विद्युत विभाग सहित जगदीशपुर विधान सभा से विधायक व राज्य सरकार में मंत्री सुरेश पासी को भी इस समस्या से अवगत कराया लेकिन किसी ने भी इस ओर ध्यान नही दिया जिसके कारण उनका धैर्य इस बार जवाब दे दिया और इसीलिये उन्होंने घर के मुख्य प्रवेश द्वार पर ‘वोट बहिष्कार’ व ‘बिजली का समाधान नहीं तो लोक सभा चुनाव में मतदान नहीं’ जैसे स्लोगन के पोस्टर चस्पा कर दिये हैं।

अमेठी से अशोक श्रीवास्तव की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.