सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर ब्लड बैंक को लेकर सड़क पर उतरे सपाई

संचालन को लेकर प्रदेश सरकार पर लगाया भेदभाव का आरोप, माँग न माने जाने पर बड़ा जनान्दोलन की चेतावनी

राम केवल यादव अमेठी की रिपोर्ट

जिले में ब्लड बैंक न होने से नाराज सपाइयों ने सड़क पर उतर कर अपनी आवाज को बुलन्द की, प्रदेश के मुख्यमंत्री को उपजिलाधिकारी अमेठी के माध्यम से ज्ञापन भी सौंपा। विदित हो कि समाजवादी पार्टी छात्रसभा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य जयसिंह प्रताप यादव ने अपने साथियों के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमेठी में ब्लड बैंक चलाने के लिए तहसील परिसर में जोरदार प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री/स्वास्थ्य मंत्री को उपजिलाधिकारी अमेठी के द्वारा सम्बोधित ज्ञापन सौंपा सपा ने कहा कि 3 वर्ष पूर्व सपा सरकार में अमेठी के स्वास्थ्य सुविधाओं को मुहैया कराने के लिए शहर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमेठी में ब्लड बैंक की स्थापना की गई थी। यहां तक कि 3 संविदा कर्मियों की तैनाती के साथ ब्लड बैंक से संबंधित उपकरण भी आ गए थे। लेकिन जिला स्तरीय स्वास्थ्य महकमे के अधिकारियों की लापरवाही के चलते ब्लड बैंक का संचालन अब तक नहीं हो सका, साथ ही यहां तैनात संविदा कर्मियों को हटाकर सुल्तानपुर संबंध कर दिया गया। इससे यह प्रतीत होता है कि भाजपा सरकार के मिली भगत से स्वास्थ्य महकमे के अधिकारी यहां पर ब्लड बैंक नहीं लगाना चाहते हैं। अमेठी विधानसभा के क्षेत्रीय जनता को ब्लड बैंक सुविधा का लाभ दिलाए जाने के लिए ब्लड बैंक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमेठी में संचालित कराया जाना अति आवश्यक है, जिससे अमेठी की जनता के साथ साथ जिला अस्पताल असैदापुर के मरीजों को भी ब्लड बैंक की सुविधा का लाभ मिल सके। सपा नेता ने कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि अमेठी विधानसभा की जनमानस की स्वास्थ्य सुविधाओं को देखते हुए अगर 15 दिन के अंदर ब्लड बैंक की स्थापना नहीं हुई तो हम समाजवादी लोग सड़क पर उतर कर अधिकारियों और सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के साथ आंदोलन करने को बाध्य होंगे। इस मौके पर कपिल, सचिन मौर्या, वीरेंद्र यादव, सलमान, सुरेश कश्यप, अखिलेश गुप्ता, शैलेंद्र सिंह, विनोद कोरी, विमलेश, रोहित वर्मा, मो अनस, अंकुश यादव, लवकुश यादव , जगमोहन यादव, बालकृष्ण त्रिपाठी, दीपक, अजय राजमान सिंह, अंकुर, रवि, रजनीश, श्याम, अमित मौर्य, आलोक सिंह, अरविंद, मनीष आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.