कलेक्ट्रेट में कानून एवं शांति व्यवस्था को लेकर हुई बैठक

अमेठी से राज कुमार जायसवाल की रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश के अमेठी में जनपद अमेठी की कानून व्यवस्था एवं शांति व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ बनाने के उद्देश्य से जिलाधिकरी डा. राम मनोहर मिश्र के द्वारा कलेक्ट्रेट सभागार में प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक करते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए गए है। उन्होंने ने इस अवसर पर पुलिस एवं प्रशासन के समस्त अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि जनपद की कानून व्यवस्था एवं शांति व्यवस्था का संदेश एवं विश्वास यहां की जनता में जगे इसके लिए प्रशासन एवं पुलिस के द्वारा संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए निष्पक्ष जांच के आधार पर जनपद में सभी प्रकार के माफियाओं पर दंडात्मक एवं कठोरतम कानूनी कार्यवाही प्रस्तावित की जाए।

जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद की कानून व्यवस्था एवं शांति व्यवस्था मानकों के अनुसार कायम करने के लिए अधिकारियों के द्वारा सरकार की मंशा के अनुरूप निष्पक्ष रुप से कार्यवाही सुनिश्चित की जाए ताकि जनपद की कानून व्यवस्था के संबंध में प्रदेश भर में एक संदेश पहुच सके। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के उद्देश्य से विभिन्न क्षेत्रों में जो माफिया कार्य कर रहे हैं, उनके संबंध में एक गहन अभियान संचालित करते हुए गैंगस्टर, गुंडा एक्ट तथा अन्य कठोरतम कार्रवाई उनके विरूद्ध प्रस्तावित की जाए। डीएम ने कहा कि जनपद में खनन माफिया, शराब माफिया, भू माफिया तथा अन्य प्रकार के माफियाओं के संबंध में पुलिस एवं प्रशासन के द्वारा संयुक्त रुप से कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए उनकी खोज करने के उपरांत सही रिपोर्ट के आधार पर निष्पक्षता के साथ कार्रवाई करते हुए गैंगस्टर एक्ट में सभी को प्रस्तावित किया जाए ताकि जनपद की कानून व्यवस्था सुदृढ़ बन सके। बैठक में डीएम ने यह भी कहा कि जनपद में अपराध नियंत्रण के संबंध में पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों में व्यापक रूप से भ्रमण संयुक्त रुप से किया जाए और छोटी से छोटी घटनाओं का संज्ञान लेते हुए उसमें तत्काल प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करें। बैठक में अपर जिलाधिकारी वंदिता श्रीवास्तव, समस्त उपजिलाधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक पीयूष कांत राय, एआरटीओ एलबी सिंह सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.