राहुल गांधी के प्रतिनिधि की चौकड़ी ने कांग्रेस को किया नेस्तनाबूत- धर्मेन्द्र शुक्ला

अमेठी से अशोक श्रीवास्तव की रिपोर्ट

 

कांग्रेस नेता धर्मेंद्र शुक्ला ने अमेठी से राहुल गांधी की हार का जिम्मेदार राहुल के प्रतिनिधी चंद्रकांत दूबे को ठहराया है। उन्होंने दूबे पर बाहरी लोगों का अमेठी में परिचय कराने और अच्छे कांग्रेसियों को बेइज्जत कर उन्हें बाहर का रास्ता दिखाने का आरोप लगाया है।

2014 में ही कर दी थी शुरुआत

कांग्रेसी नेता ने कहा कि चंद्रकांत दूबे बीजेपी के एजेंट के रूप मे काम करने के लिए 2014 में ही शुरुआत कर दी थी। जिला पंचायत के चुनाव मे उन्होंने कैंडिडेट को आंतरिक समझौता कराकर बैठा दिया। निकाय चुनाव मे ऐसे-ऐसे कंडीडेट्स को लाया गया, जिनका कोई जनाधार नहीं था। अमेठी में सच्चे कांग्रेसियों के कहने के बाद भी नगर पंचायत में कांग्रेश कैंडिडेट नहीं दिया गया यह भी सांसद प्रतिनिधि की चाल थी विधानसभा मे बुरी तरीके से कांग्रेस हारी। चंद्रकांत दूबे ने कांग्रेस और राहुल गांधी को नीचा दिखाने के लिए इस तरह का प्रबंध किया।

अमेठी की जनता के बीच में राहुल गांधी का परिवारिक संबंध है उसे कोई छीन नहीं सकता वह हमारे हैं और हमारे रहेंगे अमेठी की जनता को गुमराह कर कर और पल्लो देकर और कांग्रेस के भीतर घाटियों की वजह से कांग्रेस हारी है

धर्मेंद्र शुक्ला ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी ने कई बार कार्यकर्ताओं की उपेक्षा की शिकायत को संज्ञान में लिया। हालांकि, बाद में देशभर में चुनाव प्रचार के कारण वो ज्यादा समय नहीं दे पा रहे थे। इसी समय की कमी का फायदा चंद्रकांत दूबे ने उठाया। उन्होंने कहा कि दूबे के विश्वासघात के लिए राहुल गांधी से जांच की मांग की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.