इस तरह धीरे-धीरे आपके शरीर को खोखला करता है थायराइड, जानें इसके लक्षण

थायराइड एक ऐसी बीमारी है जिसके लक्षण काफी आम होते है। जिसकी वजह से लोगों को इसका पता तक नही चलता। इस समस्या से परेशान लोगों में जल्दी थक जाना, सुस्ती रहना, याद्दाश्त कमजोर होना, अवसाद में आना, बालों का झड़ना, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होना जैसे कई परेशानियों के लक्षण देखें जाते हैं।

 

थायराइड क्या है?
– ये गले की एक ग्रंथि है।
– ये ग्रंथि थाइराक्सीन हार्मोन बना कर खून तक पहुंचाती है, जिससे शरीर में प्रोटीन और ऊर्जा का संतुलन बनता है।
– ये ग्रंथि टी-3 और टी-4 दो तरह के हार्मोन बनाती है।
– जब ये दोनों हार्मोन असंतुलित होते हैं तो थायराइड की समस्या शुरू हो जाती है।

 

दो तरह का होता थायराइड
1. हाइपोथायराइड
2. हायपरथायराइड

 

1. हाइपोथायराइड- जब शरीर में टी-3 और टी-4 हार्मोन नहीं पहुंच पाता है। तब वजन बढ़ने लगता है। इससे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है। पैरों में सूजन और ऐंठन की शिकायत होती है। इस रोग से अधिकतर महिलाएं पीड़ित हैं।

 

2. हायपरथायराइड- टी-3 और टी-4 हार्मोन अधिक मात्रा में निकल कर रक्त में घुलनशील हो जाता है। इस स्थिति में वजन अचानक कम हो जाता है। भूख बढ़ने लगती है। पसीना ज्यादा आता है। मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं और नींद नहीं आती है।

 

कारण
– तनाव
– आयोडीन कम या ज्यादा खाना
– आनुवांशिक लक्षण
– गर्भावस्था में होने वाला परिवर्तन
– दवाओं का प्रतिकूल प्रभाव
– माहवारी में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन

 

लक्षण-
– थकान
– कमजोरी
– मोटापा
– बालों का झड़ना।
उपचार-
– कॉफी, वनस्पति घी, आयोडीन और मादक पदार्थों से दूरी।