सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए शाहिद आफरीदी, कहा- पाक के बस में नहीं कश्मीर को संभालना

shahid afridi kashmir issue

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद आफरीदी अपने एक बड़े बयान की वजह से सुर्खियों में आ गए हैं। दरअसल, आफरीदी ने कश्मीर को लेकर अपना एक बयान दिया था, जिससे अब वो पूरी तरह से मुकर गए हैं।

shahid-afridi-kashmir-issue

अब उनका कहना है कि, कश्मीर पर दिए गए उनके बयान को सही तरीके से पेश नहीं किया गया। दरअसल, शाहिद आफरीदी ने कश्मीर को लेकर दो ट्वीट किए हैं और अपनी सफाई पेश की है। अपने पहले ट्वीट में उन्होंने कहा है कि, उनके बयान के हिस्से को अधूरा दिखया गया है और दूसरे ट्वीट में कहा है कि उनके बयान का गलत अर्थ निकाला गया है।

बता दें कि, लंदन में अफरीदी ने कहा था कि, ‘पाकिस्तान को कश्मीर नहीं चाहिए, पाकिस्तान से खुद के चार सूबे नहीं सभल रहे।’ अफरीदी ने यह बयान लंदन में ब्रिटिश संसद में छात्रों को संबोधित करते हुए दिया था।

पहला ट्वीट

पहले ट्वीट में आफरीदी ने लिखा कि, ‘मेरी क्लिप अधूरी है और संदर्भ से काटकर पेश की गई है। इससे पहले मैंने जो कहा वह गायब है। कश्मीर अनसुलझा झगड़ा है और भारत के क्रूर शासन के अधीन है। इसे संयुक्त राष्ट्र के समझौते के अनुसार सुलझाया जाना चाहिए। हर पाकिस्तानी के साथ मैं भी कश्मीर के स्वतंत्रता संघर्ष का समर्थन करता हूं। कश्मीर पाकिस्तान का हिस्सा है।’

दूसरा ट्वीट

इसके बाद उन्होंने दूसरी ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मेरी टिप्पणी को भारतीय मीडिया ने गलत तरीके से समझा। मैं अपने देश के प्रति प्यार का भाव रखता हूं और कश्मीरियों के संघर्ष को महत्व देता हूं। वहां पर मानवता का राज होना चाहिए और उन्हें उनके अधिकार मिलने चाहिए।’

वायरल हुआ वीडियो

इसके अलावा सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में अफरीदी को कहते सुना जा सकता है, ‘मैं कहता हूं पाकिस्तान को कश्मीर नहीं चाहिए। और इसे भारत को भी मत दो। कश्मीर को एक आजाद मुल्क रहने दो। कम से कम इंसानियत तो जिंदा रहेगी। लोग नहीं मरेंगे। पाकिस्तान को कश्मीर नहीं चाहिए। पाकिस्तान खुद के चार सूबे नहीं संभाल पाता। सबसे बड़ी चीज इंसानियत है। लोग वहां मर रहे हैं, यह बहुत तकलीफ देता है। मरने वाला किसी भी समुदाय से ताल्लुक रखे, लेकिन यह दुखदायी है।’

आतंकवादियों के पक्ष में भी कर चुके हैं ट्वीट

बता दें कि, ये पहला मौका नहीं है, जब शाहिद अफरीदी ने कश्मीर पर बयान दिया हो। इससे पहले उन्होंने अपने बयान में भारत को निशाना बनाया था। उन्होंने इसी साल अप्रैल में एक ट्वीट किया था। जिसमें जम्मू-कश्मीर में सेना के आतंकरोधी अभियान के तहत मारे गए 13 आतंकियों से शाहिद अफरीदी ने हमदर्दी जताते हुए एख पोस्ट लिखा था, ‘कश्मीर की स्थिति बेचैन करनेवाली और चिंताजनक है। यहां आत्मनिर्णय और आजादी की आवाज को दबाने के लिए दमनकारी शासन द्वारा निर्दोषों को मार दिया जाता है। हैरान हूं कि संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठन कहां हैं? वे इस खूनी संघर्ष को रोकने के लिए कुछ क्यों नहीं कर रहे?’

आपके लिए ये भी रोचक

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें Facebook PageYouTube और Instagram पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.