10 हजार करोड़ कर्ज़ की वसूली का केस हारे माल्या, कोर्ट ने लिया बड़ा फैसला

लंदनः भारत सरकार से भगोड़े करार शराब कारोबारी विजय माल्या को तगड़ा झटका लगा है। लंदन की एक अदालत ने उन्हें तगड़ा झटका देते हुए 1.55 अरब डालर से अधिक यानी 10 हजार करोड़ रुपये की वसूली के मामले में माल्या के खिलाफ फैसला दिया है। कोर्ट ने उनकी याचिका खारिज कर दी है। वे ब्रिटेन में भारतीय बैंकों द्वारा फाइल किए गए करीब 9,000 करोड़ रुपये के कर्ज़ का मुकदमा हार गए हैं।

 

माल्या के खिलाफ फैसला सुनाते हुए लंदन कोर्ट ने कहा कि, IDBI बैंक समेत सभी लोन देने वाले बैंक भारतीय न्यायालय के आदेश को लागू करा सकते हैं, जिसमें विजय माल्या पर आरोप है कि उसने जानबूझकर अब बंद पड़ी अपनी किंगफिशर एयरलाइंस के लिए करीब 1.4 अरब डॉलर का कर्ज लिया था।

 

बता दें कि, भारत के 13 बैंकों के समूह ने माल्या से वसूली के लिए एक मामला दर्ज कराया था। जिसे माल्या हार गए है। मामले की अगली सुनवाई 5 जुलाई को की जाएगी। गौरतलब है कि, धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग केस में फंसे माल्या मार्च 2016 से लंदन में रह रहा है। माल्या के प्रत्यर्पण के लिए ब्रिटेन की अदालत में भी केस चल रहा है। वहीं, भारत सरकार भी माल्या को वापस लाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है।

माल्या के खिलाफ सिर्फ ब्रिटेन में ही नहीं, बल्कि भारत में भी कई मुकदमें चल रहे हैं। हाल ही में उसको एक मामले में गिरफ्तार भी किया गया था, लेकिन बाद में छोड़ दिया गया।

 

इन बैंकों का डूबा है पैसा
– एसबीआई
– बैंक आफ बड़ौदा
– कारपोरेशन बैंक
– फेडरल बैंक
– आईडीबीआई बैंक
– इंडियन ओवरसीज बैंक
– जम्मू कश्मीर बैंक
– पंजाब एंड सिंध बैंक
– पीएनबी
– यूको बैंक
– यूनाइटेड बैंक आफ इंडिया।