ब्रिटेन में कोरोना की नई स्‍ट्रेन के पाए जाने के बाद भारत एलर्ट


संतोष तिवारी

नई दिल्‍ली।ब्रिटेन में कोरोना की नई स्‍ट्रेन के पाए जाने के बाद भारत भी एलर्ट हो गया है और सावधानियां बरत रहा हैं। महाराष्‍ट्र पुलिस ने रात्रि कर्फ्यू को पूर्णरूप से लागू कराने में लग गई है। एक दिन पहले कोरोना के खतरे को लेकर किसी भी तरह का प्रतिबंध न लगाने की बात कहने वाले कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने बुधवार को रात्रि कर्फ्यू की घोषणा कर दी। यही नहीं राजस्थान सरकार ने नए साल की पूर्व संध्या पर होने वाले कार्यक्रमों पर रोक लगा दी है।
राजस्‍थान सरकार ने प्रदेश के 12 जिलों में 31 दिसंबर की रात आठ बजे से एक जनवरी सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ्यू की घोषणा की है। यह कर्फ्यू राजस्‍थान के जयपुर, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, अजमेर, बीकानेर, भीलवाड़ा, नागौर, पाली, टोंक, सीकर व श्रीगंगानगर में लागू किया होगा। महाराष्ट्र के बाद कर्नाटक ने भी रात्रि कर्फ्यू की घोषणा की है। यह प्रतिबंध 24 दिसंबर से एक जनवरी तक प्रभावी रहेगा। यह रात 11 से लेकर सुबह पांच बजे तक लागू रहेगा।
समाचार एजेंसी पीटीआइई के मुताबिक, मुंबई पुलिस कोरोना की वजह से नए साल के जश्न को रोकने के लिए लगाए गए रात्रि कर्फ्यू को प्रभावी ढंग से लागू कराने में लग गई है। पुलिस इस बाबत शहर की गलियों में जाकर लोगों से कर्फ्यू के दौरान घरों में रहने की अपील कर रही है। यही नहीं, पुलिस होटल, पब सहित अन्य सार्वजनिक जगहों पर भी जाकर कर्फ्यू का पालन सुनिश्चित करा रही है। क्रिसमस समारोह मनाने के लिए भी गाइडलाइन जारी की गई है। इसके तहत रात में चर्च में 50 लोगों के प्रवेश की अनुमति होगी।

दिल्ली एनसीआर में जश्‍न पर रोक

एनसीआर में क्रिसमस और नए साल के जश्न के दौरान आतिशबाजी पर रोक लगा दी गई है। हालांकि यह आदेश बढ़ते प्रदूषण को ध्‍यान में रखते हुए दिया गया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने बुधवार को आदेश जारी कर एजेंसियों को निगरानी करने और आदेश का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा अगले माह दो जनवरी तक दिल्ली एनसीआर में हॉट मिक्स प्लांट व स्टोन क्रेशर मशीनों का संचालन बंद रहेगा।

राजधानी में यूके से लौटने वालों पर निगाह

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, दिल्‍ली सरकार बीते दो हफ्तों में विदेश खास तौर पर ब्रिटेन से आए लोगों पर नजर रख रही है। दिल्‍ली सरकार के अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि पिछले कुछ हफ्तों में ब्रिटेन से आने वालों की निगरानी बढ़ा दी गई है। स्वास्थ्य विभाग और नागरिक सुरक्षा स्वयंसेवकों की टीमों को इन लोगों पर नजर रखने के लिए जिला स्तर पर तैनात किया गया है। भले ही इन लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है लेकिन इन्‍हें क्‍वारंटाइन में रहने को कहा गया है।

यूपी में विदेश से आने वालों की अनिवार्य जांच के आदेश

उधर, उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि वायरस के नए स्वरूप को देखते हुए हर स्तर पर पूरी सतर्कता और सावधानी बरती जाए। इस मामले में थोड़ी भी लापरवाही भारी पड़ सकती है। उन्‍होंने यह भी कहा कि जिन देशों में नया स्ट्रेन पाया गया है वहां से 25 नवंबर से नौ दिसंबर के दौरान आने वाले लोगों की अनिवार्य आरटीपीसीआर जांच और आइसोलेशन की व्यवस्था की जाए।

केंद्र ने विभिन्न राज्यों से ली जानकारी

कोरोना के नए रूप के सामने आने के बाद केंद्र की मोदी सरकार भी काफी सतर्क हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना, तमिलनाडु, बंगाल, गोवा, पंजाब, गुजरात और केरल की स्थिति की जानकारी ली।

उत्तराखंड में जमावड़ों पर बैन, मध्‍य प्रदेश सरकार भी सतर्क

क्रिसमस और नए वर्ष के जश्न को देखते हुए उत्तराखंड के विभिन्न पर्यटन स्थलों देहरादून, मसूरी और ऋषिकेश में पर्यटकों के जमावड़े को प्रतिबंधित कर दिया गया है। कई राज्यों में ब्रिटेन से आए लोगों की पहचान तेज कोरोना के नए खतरे को लेकर राज्य अपने स्तर से भी काफी सतर्कता बरत रहे हैं। मध्य प्रदेश और पंजाब सरकार ने भी हाल के दिनों में ब्रिटेन से आए लोगों की पहचान कर उन्हें क्वारंटाइन करने के प्रयास तेज कर दिए हैं।