तीन कृषि कानूनों के विरोध में अमेठी कांग्रेस जिला अध्यक्ष प्रदीप सिंघल की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

थिंक मीडिया ब्यूरो

तीनों काले कानून वापस लो, महंगाई से हालात खस्ता, मोदी सरकार में कुछ नहीं सस्ता, डीजल पेट्रोल तुम संघर्ष करो,गैस तुम्हारे साथ हैं न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून बनाए सरकार इत्यादि नारों के साथ केंद्रीय कांग्रेस कार्यालय गौरीगंज से जीजीआईसी होते हुए ,चौक बाजार डाकखाना होते हुए सैठा चौराहा, स्टेशन चौराहा से भारी हुजूम के साथ वापस कांग्रेस कार्यालय पर पद यात्रा समाप्त हुई।

युवा कांग्रेस जिला अध्यक्ष शकील इदरीसी ने सिर पर गैस सिलेंडर लिए हुए साथ में गाजे-बाजे व जोशो-खरोश के साथ किसानों के सम्मान में कांग्रेस मैदान में आवाहन के साथ जुलूस की शक्ल में पदयात्रा फूल वर्षा के मध्य आगे बढ़ रही थी जगह-जगह जिला अध्यक्ष का माल्यार्पण एवं पुष्पवर्षा जुलूस का मनोबल और बढ़ा रही थी।

इस अवसर पर जिला अध्यक्ष प्रदीप सिंघल ने कहा कि किसान विरोधी तीन काले कानून की जब तक वापसी नहीं होगी संघर्ष जारी रहेगा,

इस किसान विरोधी काले कानून ने इस सरकार में पहले से ही बदतर स्थिति में पहुंचे किसानों को और बदतर स्थिति में कर दिया है, हमारी यह लड़ाई जारी रहेगी ।

बढ़ती महंगाई पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतें बेरोजगारी ,युवाओं व व्यापारियों में बढ़ती निराशा के साथ आम आदमी का जीना बेहाल हो गया है!

इस अवसर पर पूर्व विधायक राधेश्याम धोबी, पूर्व जिला अध्यक्ष योगेंद्र मिश्रा, रजवाड़ी प्रसाद पासी, पूर्व प्रत्याशी मोहम्मद नईम, जिला उपाध्यक्ष राजीव सिंह, शत्रुघ्न सिंह, प्रशांत त्रिपाठी, कृपाशंकर यादव, धर्मराज बहेलिया, बैजनाथ तिवारी, पीसीसी सदस्य अब्दुल लतीफ,

मुन्ना सिंह त्रिशुंडी, शकील इदरीसी, मोहम्मद सऊद, परमानंद मिश्रा, अशोक सिंह हिटलर, सुनील सिंह, विजय पासी, सेवादल जिलाध्यक्ष रामबरन कश्यप, परमानंद मिश्रा लखनलाल वर्मा, गोपी बाजपेई, पुष्पा दुबे, आशा पांडे, कामता प्रसाद मिश्रा, अवनीश कुमार मिश्रा सेनानी,

राजू ओझा, प्रेम कुमार उपाध्याय, डॉ. राममिलन पथिक, सबीना बानो, सोनू सिंह, मो. अकमल, मतीन अहमद, शिवेंद्र विक्रम सिंह, रामनारायण कनौजिया, लोहा सिंह,शुभम इत्यादि के साथ जिला कमेटी पदाधिकारी, ब्लॉक अध्यक्ष गण, ब्लॉक प्रभारी गण एवं न्याय पंचायत अध्यक्षों के साथ भारी मात्रा में कार्यकर्ता, महिला कार्यकत्री व किसान उपस्थित रहे !

पदयात्रा का एक छोर कांग्रेस कार्यालय और दूसरा छोर सब्जी मंडी तक पहुंचा हुआ था, इस लगभग हजार के हुजूम की भीड़ से प्रशासन भी अलर्ट रहा , सैकड़ों की पुलिस फोर्स की घेराबंदी रही।