कंगना ने बॉलीवुड में ड्रग रैकेट का किया पर्दाफाश कलाकारों की पत्नियों पर लगाया बड़ा आरोप

संतोष तिवारी

कंगना रनोट ने दावा किया है कि वह बॉलीवुड के उस स्याह पक्ष को जानती हैं, जहां सेलेब्स ड्रग पार्टियों में भाग लेते हैं। कंगना ने यह भी कहा कि यह पार्टियां कितनी अश्लील होती है। सभी फिल्म माफियाओं को ट्रोल करने के बाद कंगना ने फिर से कुछ चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। कंगना रनोट ने अपने ताजा साक्षात्कार में दावा किया कि उन्होंने बॉलीवुड का वह काला चेहरा भी देखा है, जहां कई कलाकार ड्रग्स लेते हैं।

कंगना का बयान रिया चक्रवर्ती के ‘ड्रग चैट’ के बाद आया है, जो एक समाचार चैनल पर लीक हुए थे। ड्रग-एंगल के सामने आने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने रिया के खिलाफ आधिकारिक शिकायत दर्ज की है। इतना ही नहीं एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 20 टॉप बॉलीवुड और राजनेताओं के नाम भी NCB को दिए गए हैं। अब इसी के बारे में बताते हुए कंगना ने दावा किया कि जब वह एक समय बॉलीवुड के ‘हाई और माइटी ‘ क्लब का हिस्सा थीं, जहां वह हर दूसरी रात पार्टियों में भाग लेती थीं और ड्रग्स लेते मशहूर हस्तियों को देखती थीं।

कंगना ने कहा, ‘कुछ युवा कलाकार जो मेरी उम्र के थे, वे व्यक्तिगत रूप से ड्रग्स लेते हैं और शो करते हैं। दूसरा इन कलाकारों के बारे में ब्लाइंड आइटम भी लिखे जाते थे। डीलर समान होते हैं। सब कुछ तरीके से नियंत्रित किया जाता है। उनकी पत्नियां भी इन पार्टियों की मेजबानी करती हैं। यहां पूरी तरह से एक अलग वातावरण होता है। आपको ऐसे लोग मिल जाएंगे जो केवल ड्रग्स करते हैं और दूसरों से दुर्व्यवहार करते हैं।’

कंगना आगे कहती हैं, ‘कई सरकारों ने इस बॉलीवुड-ड्रग माफिया को आगे बढ़ने में मदद की है। बॉलीवुड-ड्रग माफिया का रिश्ता हैं, वे एक-दूसरे को जानते हैंl सभी के एक ही डीलर और पैडलर्स हैं। कलाकार ड्रग्स का सेवन करते हैं। ये लोग भाई-भतीजावाद को बढ़ावा देते हैं, उनमें से कई बचपन से ड्रग्स करते हैं और फिर अभिनेता या निर्देशक बन जाते हैं। इन अभिनेताओं में से मैंने एक को डेट किया हैl वे एक जगह जाते हैं, ड्रिंक के साथ शुरू करते हैं और फिर एक रोल और फिर एक गोली, फिर वे सूंघते हैंl यह सब एक गुप्त संकेत में होता है।’

कंगना ने आगे कहा, ‘अभिनेताओं की पत्नियां घरों में जाती हैं और ड्रग्स लेती हैं। अकल्पनीय दुर्व्यवहार होता है। मैंने देखा है कि यह कैसे अश्लील होता जाता है और कई बार स्थिति नियंत्रण से बाहर हो जाती है। कुछ वास्तविकताओं को एक हालिया फिल्म में दिखाया गया है, लेकिन सच्चाई को अलग रखा गया है।’