शनिवार को करें इन 5 मंत्रों का जाप, कर्म फल देवता देंगे आर्शिवाद

शनिवार के दिन अगर शनि दोषों का निवारण करना चाहते हैं, तो पूजा के दौरान भगवान शिव के पंचाक्षर मंत्र- ‘ॐ नमः शिवाय’ का जाप करें। इसके अलावा आप कर्म फलों के देवता शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए महामृत्युंजय मंत्र- ‘ॐ त्र्यंबकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्द्धनं उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्’ का भी जाप कर सकते हैं।

 

इसके अलावा आपको शनिदेव के 5 मंत्रों को भी बताने वाले हैं, जिनके जाप से आप शनिदेव का आर्शिवाद पा सकते हैं।

 

शनि के 5 फलदायी मंत्र
1- ॐ शन्नोदेवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये शन्योरभिस्त्रवन्तु न:।
2- ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम:
3- ॐ ऐं ह्लीं श्रीशनैश्चराय नम:।
4- कोणस्थ पिंगलो बभ्रु: कृष्णो रौद्रोन्तको यम:।
5- सौरि: शनैश्चरो मंद: पिप्पलादेन संस्तुत:।