बदलनी है किस्मत! करें 30 अप्रैल को इस चमत्कारी मंत्र का जाप

30 अप्रैल के दिन सोमवार का योग काफी शुभ पड़ रहा है। इस दिन वैशाख पूर्णिमा का भी योग बन रहा है। इसलिए ये काफी खास माना जा रहा है। क्योंकि पूर्णिमा पर ये योग 3 साल के बाद बनता है। इस दिन दान से लेकर खरीदारी तक हर काम काफी शुभ होता है। वहीं अगर आपने 30 अप्रैल का योग गवां दिया तो इसा अलगा योग साल 2022 में ही बनेगा।

बता दें कि, इस पूर्णिमा ये योग पर बुद्ध जयंती का पर्व भी मनाया जाएगा।

– इस दिन स्वाति नक्षत्र और तुला राशि का चंद्रमा समृद्धि व वैभव प्रदान करेगा। व्यापार में वृद्धि के लिए भी यह योग खास है।

– पूर्णिमा के दिन सोमवार होने से यह सोमवती पूर्णिमा भी कहलाएगी।

– स्वाति नक्षत्र 27 नक्षत्रों में दान में पुण्य प्रदान करने वाला है। इसके अधिपति वायुदेव हैं।

– इसी तरह सिद्धि योग के अधिपति गणेश है जो कि हर प्रकार के कार्य में सिद्धि प्रदान करने वाले हैं। तुला के चंद्रमा से वैभव में वृद्धि होगी।

उपाय-
– हनुमानजी को सिंदूर और चमेली के तेल से चोला चढ़ाएं।
– शाम को पीपल के पेड़ के नीचे गाय के शुद्ध घी का दीपक जलाएं। इससे माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।
– अगर आप पर शनि की ढय्या या साढ़ेसाती का प्रभाव है तो पीपल पर जल चढ़ाएं। इससे आपकी परेशानियां कुछ कम हो सकती हैं।
– 10 साल से कम उम्र की लड़कियों को भोजन करवाएं और उन्हें कुछ उपहार दें। इससे सोई किस्मत जागती है।
– पूर्णिमा की रात चंद्रमा को अर्घ्य दें कर इस मंत्र का जाप करें।
मंत्र- ऊं ऐं क्लीं सोमाय नम: